1 0
post icon

व्यापारी धना के रूप में रिषभदेव का पहला अवतार – भाग 1

Sorry, this article is only available in English. Please, check back soon. Alternatively you can subscribe at the bottom of the page to recieve updates whenever we add a hindi version of this article.

Leave a Comment
post icon

सुकोशल मुनि की चरण पादुकाएँ

Sorry, this article is only available in English. Please, check back soon. Alternatively you can subscribe at the bottom of the page to recieve updates whenever we add a hindi version of this article.

Leave a Comment
post icon

बच्चों से व्यवहार कैसे करें ?

बच्चों से व्यवहार कैसे करें ?
बच्चों से न अधिक लाड़ करें और न उन्हें मार-पीट कर धुतकारें| अधिक लाड़ प्यार से वे सर पर चड़ कर भविष्य में अपना जीवन बिगाड़, आपको दु:ख देंगे| Continue reading “बच्चों से व्यवहार कैसे करें ?” »

Leave a Comment
post icon

भक्तामर स्तोत्र – श्लोक 5

सोहं तथापि तव भक्तिवशान्मुनीश !
कर्तुं स्तवं विगतशक्तिरपि प्रवृत्तः |
प्रीत्यात्मवीर्यमविचार्य मृगो मृगेन्द्रं
नाभ्येति किं निजशिशोः परिपालनार्थम् ? ||5||

Continue reading “भक्तामर स्तोत्र – श्लोक 5” »

Leave a Comment
post icon

डिट्टा का भाग्य

डिट्टा का भाग्य
एक गॉंव में एक आदमी रहता था| उसे लोग डिट्टा कहकर बुलाते थे| वह कुछ भी पढ़ा लिखा नहीं था, इसलिए बेकार था| Continue reading “डिट्टा का भाग्य” »

Leave a Comment
post icon

मोक्ष और निर्वाण

मोक्ष और निर्वाण

अगुणिस्स नत्थि मोक्खो,
नत्थि अमोक्खस्स निव्वाणं

गुणोंके अभाव में मोक्ष नहीं होता और मोक्षके अभाव में निर्वाण नहीं होता

Continue reading “मोक्ष और निर्वाण” »

Leave a Comment
post icon

Refutation of Maya – Part 4

Sorry, this article is only available in English. Please, check back soon. Alternatively you can subscribe at the bottom of the page to recieve updates whenever we add a hindi version of this article.

Leave a Comment
post icon

श्री पूज्य टूंक

Sorry, this article is only available in English. Please, check back soon. Alternatively you can subscribe at the bottom of the page to recieve updates whenever we add a hindi version of this article.

Leave a Comment
post icon

अनमोल शिक्षा

अनमोल शिक्षा

नो हीलए नो वि य खिंसएज्जा
जीवन का सच्चा पथ यही है कि जिस पर चलते हुए पथिक आलोक, अमृत और आनन्द को प्राप्त कर सकें…इस जीवन में जो हमें प्राप्त नहीं है उसके लिए आज तक हम रोते रहे हैं…शिकायतें करते रहे हैं| Continue reading “अनमोल शिक्षा” »

Leave a Comment
post icon

कलिकुण्ड पार्श्वनाथ की चरण पादुकाएँ

Sorry, this article is only available in English. Please, check back soon. Alternatively you can subscribe at the bottom of the page to recieve updates whenever we add a hindi version of this article.

Leave a Comment
Page 1 of 6712345...102030...Last »